chinmayananda case : चिन्मयानंद रेप के वायरल हो रहे वीडियो में क्या है, छात्रा ने क्यों लगाया रेप का आरोप

chinmayananda case – शाहजहांपुर : पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद स्वामी की मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं. पीड़ित छात्रा द्वारा चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप लगाने के बाद अब उनकी वीडियो सामने आ रही है. सोशल मीडिया से लेकर पॉर्न साइट्स पर उनके वीडियो क्लिप्स वायरल हो रहे हैं. इन वायरल वीडियो क्लिप्स में चिन्मयानंद स्वामी लड़कियों से मालिश करवाते और अश्लील बातें करते नजर आ रहे हैं. इन छात्राओं ने चिन्मयानंद स्वामी पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

हालांकि चिन्मयानंद स्वामी के वायरल हो रहे अश्लील वीडियो की अभी तक आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. जिससे अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि ये वीडियो क्लिप्स किसने, कहां और किन परिस्थितयों में बनाएं हैं. बताते चलें कि ये वीडियो 2014 का बताया जा रहा है. इन वीडियोज़ में चिन्मयानंद की मसाज के दौरान बीच-बीच में अलग-अलग लोगों के फोन आ रहे हैं.

इसमें चिन्मयानंद स्वामी छात्रा से मसाज कराने के दौरान 23 मई का जिक्र करते हुए सुनाई दे रहे हैं.

लोगों का ऐसा मानना है कि उनकी ये वीडियो 2014 के चुनाव के दौरान बनाई गई थी. वीडियो में चिन्मयानंद स्वामी की मसाज कौन कर रहा है अभी तक आधिकारिक तौर पर इस बात का भी खुलासा नहीं हो पाया है. चिन्मयानंद कम रोशनी वाले कमरे में खिड़की के पास मसाज कराते दिखाई दे रहे हैं.

ब्लैकमेल कर करता था रेप

चिन्मयानंद स्वामी पर पीड़िता ने आरोप लगाते हुए कहा है कि कई वर्षों तक चिन्मयानंद उसके साथ बलात्कार करता रहा. चिन्मयानंद पीड़िता से मसाज करने का भी दबाव बनाया करता था वहीं जब पीड़िता ऐसा करने से मना करती थी तो कई बार वो बंदूक की नोक पर बलात्कार करता था. वहीं पीड़िता ने ये भी आरोप लगाया है कि चिन्मयानंद ने उसकी बाथरूम में नहाते हुए वीडियो बना ली थी इसके बाद एक साल तक वो बलात्कार करता रहा. चिन्मयानंद पीड़िता को ब्लैकमेल कर रेप किया करता था.

बलात्कार के सारे साक्ष्य हैं मौजूद

पीड़िता ने पुलिस पर भी आरोप लगाते हुए कहा है कि पुलिस चिन्मयानंद का साथ देकर साक्ष्यों को मिटाने की कोशिश कर रही है. पीड़िता के अनुसार कॉलेज हॉस्टल के जिस कमरे में वो रहती थी पुलिस ने उसे सील कर दिया है. अगर मीडिया के सामने उन कमरों को खोला जाएगा तो वो सारे साक्ष्यों को देश के सामने रख सकती है. न्याय की गुहार लगाते हुए पीड़िता ने ये भी कहा कि स्वामी चिन्मयानंद के गुर्गो से उसके परिवार को खतरा है.

परिवार की सुरक्षा के लिए पीड़िता को वीडियो वायरल करना पड़ा. इस वीडियो में उसने चिन्मयानंद से जान का खतरा बताया था. पीड़िता का वीडियो वायरल होते ही ये मामला चर्चा में आ गया. वीडियो वायरल होने के कुछ दिनों बाद पीड़िता लापता हो गई थी. जिसके बाद राजस्थान जाकर यूपी पुलिस ने छात्रा को खोज लिया.

इसके बाद छात्रा लापता हो गई थी. यूपी पुलिस की स्पेशल टीम राजस्थान से छात्रा को खोजकर लाई थी.

चिन्मयानंद ने बताया इसे साजिश

वहीं, इस मामले पर रेप के आरोपी चिन्मयानंद ने अपनी सफाई देते हुए इसके पीछे साजिश का आरोप लगाया है. इस मामले में उनके वकील ने कहा है कि चिन्मयानंद सरस्वती को ब्लैकमेल कर फंसाया जा रहा है. इस वीडियो के एवज में उनसे 5 करोड़ रुपए की रंगदागी लेने का प्रयास किया जा रहा है.

आरोपित पक्षकारों का कहना है कि उनसे व्हाट्एप पर मैसेज कर 5 करोड़ रुपए मांगें गए थे. इस संबंध में चिन्मयानंद के वकील ने 22 अगस्त को नजदीकी पुलिस चौकी में FIR दर्ज करवाई थी. इसके 2 दिन बाद पीडिता ने वीडियो वायरल कर दिया. वहीं मामले पर संज्ञान लेते हुए उच्चतम न्यायालय ने यूपी एसआईटी को इस मामले की जांच सौंप दी है