Madhya Pradesh cabinet : जानिए कौन हैं Shivraj singh chauhan के मंत्रिमंडल में शामिल ये 5 मंत्री, जो बनेंगे शिवराज के योद्धा

Madhya Pradesh cabinet : मध्य प्रदेश में काफी दिनों तक चले ड्रामे के बाद आखिरकार चौथी बार मुख्यमंत्री बने शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल का आज विस्तार हो गया है। शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल में शामिल हुए 5 मंत्रियों ने आज शपथ ली।

राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया था। हालांकि बताया गया है कि शपथ ग्रहण समारोह (Madhya Pradesh cabinet) में सामुदायिक दूरी का खास ध्यान रखा गया इसीलिए समारोह में कुछ ही बीजेपी नेता शामिल हुए। शिवराज सिंह चौहान के साथ उमा भारती भी समारोह में मौजूद थीं।

चलिए अब आपको बताते हैं शिवराज के मंत्रिमंडल में कौन कौन से 5 नेता हैं जिन्होंने मंत्रीपद की शपथ ली है। मंत्रिमंडम के विस्तार में सभी खेमों को साधने (Madhya Pradesh cabinet) की कोशिश की गई है। क्योंकि इस बार शिवराज खेमे में ज्योतिरादित्या सिंधिया का समर्थक दल भी शामिल है।

इन 5 मंत्रियों में से 3 बीजेपी के कद्दावर नेता हैं वहीं 2 सिंधिया समर्थकों में से हैं। आज नरोत्तम मिश्रा, तुलसी सिलावट, कमल पटेल, गोविंद सिंह राजपूत और मीना सिंह शामिल ने शपथ ली है।

Madhya Pradesh cabinet : चलिए अब इन नेताओं के बारे में थोड़ी आपको जानकारी देते हैं….

नरोत्तम मिश्रा

नरोत्तम मिश्रा दतिया से बीजेपी विधायक है। बीजेपी के कद्द्वर नेता कहे जाते हैं। मध्य प्रदेश की राजनीति में इनकी अच्छी खासी पकड़ है। शिवराज सिंह चौहान के काफी भरोसेमंद नेता है।

चौथी बार शिवराज सिंह चौहान को मुख्यमंत्री बनाने में की रणनीति में इनका अहम रोल रहा है। नरोत्तम मिश्रा इससे पहले भी शिवराज से तीनों कार्यकाल में मंत्रिमंडल में शामिल थे।

कमल पटेल

कमल पटेल हरदा से बीजेपी विधायक हैं। ये मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के करीबी माने जाते हैं। शिवराज के पिछले (Madhya Pradesh cabinet) कार्यकाल में मंत्री रह चुके हैं। लेकिन बताया जाता है कि शिवराज से इनकी नाराजगी रही है। इसीलिए शिवराज के खिलाफ इन्होंने अपनी ही सरकार के खिलाफ खोल दिया था। ये शिवराज के एंटी ग्रुप के माने जाते हैं। फिलहाल बताया जा रहा है कि अब इनके और शिवराज के बीच सब कुछ ठीक हो रहा है।

मीना सिंह

मीना सिंह आदिवासी चेहरा हैं। मीना सिंह 5 बार विधायक रह चुकी हैं। ये मानपुर से विधायक हैं। उमरिया जिले के मानपुर से 5 बार की विधायक रह चुकीं मीना सिंह भी शिवराज के मंत्रिमंडल में शामिल हुई हैं। मीना सिंह आदिवासियों और महिलाओं की समस्याओं को लेकर मुद्दे उठाती रही हैं।

तुलसी सिलावट

इस बार शिवराज के मंत्रिमंडल में ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों को भी साधने की कोशिश की गई है। इसीलिए तुलसी सिलावट को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। तुलसी सिलावट ने भी मंत्रिपद की शपथ ली है।

तुलसी सिलावट मध्यप्रदेश में सिंधिया के सबसे खास लोगों में होती है। कांग्रेस की सरकार के दौरान सिलावट ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ साए की तरह चलते थे। ये आगर-मालवा क्षेत्र से आते हैं। कमलनाथ सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रहे हैं। ज्योतिरादित्य के कांग्रेस छोड़ने के बाद इन्होंने भी बीजेपी ज्वॉइन (Madhya Pradesh cabinet) की है।

गोविंद सिंह राजपूत

गोविंद सिंह राजपूत भी सिंधिया के से आते हैं। इन्होंने भी मंत्रिपद की शपथ ली है। ये ओबीसी कोटे से आते हैं। कमलनाथ सरकार में परिवहन मंत्री थे। बताया जाता है कि बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय से इनके रिश्ते काफी अच्छे हैं।

आपको बता दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस से बागी होने के बाद सिंधिया समर्थक विधायको ने भी कांग्रेस से मुंह मोड़कर लिया था। जिस वजह से कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई थी और कमलनाथ को 20 मार्च को इस्तीफा देना पड़ा था।

इसके बाद शिवराज सिंह चौहान ने 23 मार्च को चौथी बार मध्य प्रदेश के सीएम पद की शपथ (Madhya Pradesh cabinet) ली थी। बता दें, मध्य प्रदेश में विधानसभा की 230 सीटें हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *