IAS abhishek singh : प्यार में धोखा मिला तो पहले बनें IAS अधिकारी फिर मॉडल बनकर किया नाम रोशन

IAS abhishek singh

IAS abhishek singh : जब इंसान किसी प्यार में पड़ता है और इस दौरान उसे प्रेमिका से धोखा मिले तो वह बुरी तरह टूट जाता है। अपनी दुनिया को उजड़ी सी महसूस करता है व सब कई बार तो सब कुछ खत्म करने के बारे में भी सोचने लगता है। लेकिन आज हम बात करने वाले हैं एक ऐसे शख्स की, जिन्होंने प्यार में धोखा खाने के बाद अपने हाथ की नस नहीं काटी और न ही हाथ में शराब की बोतल लेकर गम के सागर में डूबे, बल्कि हाथ में किताबें उठाकर मन लगाकर पढ़ाई की और यूपीएससी का पेपर पास कर क्लेक्टर बन गए। हम बात कर रहे हैं यूपी के रायपुर के रहने वाले आईएएस अभिषेक सिंह की.

2011 बैच के यूपी कैडर के IAS अधिकारी हैं (IAS abhishek singh) अभिषेक सिंह

फिलहाल दिल्ली सरकार में उपायुक्त अभिषेक सिंह 2011 बैच के उत्तर प्रदेश कैडर के आईएएस अधिकारी हैं।उनकी पत्नी दुर्गा शक्ति नागपाल भी 2009 बैच की आईएएस अधिकारी हैं। वर्तमान में नागपाल कॉमर्स मिनिस्ट्री में डिप्टी सेक्रेटरी हैं।

बता दें कि दुर्गा शक्ति नागपाल तब सुर्खियों में रहीं थी, जब यूपी सरकार की ओर से इन्हें निलंबित कर दिया गया था। यह मामला कोर्ट तक पहुंच गया था। हालांकि बाद में इन्हें बहाल भी कर दिया गया।

रियल लाइफ हीरो हैं अभिषेक सिंह

आईएएस रील लाइफ में ही नहीं बल्कि रीयल लाइफ में भी हीरो हैं। वैश्विक कोरोना महामारी के दौरान उन्होंने कई मुहिम चलाई व कई जनहित से जुड़े काम किए।उन्होंने स्टूडेंट्स फॉर इन्वॉल्व्ड गवर्नेंस और म्यूचुअल एक्शन नामक एक संगठन बनाया जिसका उद्देश्य महामारी के दौरान मजदूरी का सहयोग करना था। इतना ही नहीं उन्होंने लॉकडाउन की वजह से बेरोजगार हुए लोगों के लिए हेल्पलाइन नम्बर (8800883323) भी जारी किया।

वहीं टेलीविजन धारावाहिक दीया और बाती में आईपीएस बनीं अभिनेत्री दीपिका सिंह की मां को कोरोना महामारी के दौरान अस्पताल में भर्ती भी कराया गया था, जिसके लिए उनकी काफी तारीफ भी की गई थी।

अभिषेक की जिंदगी पर फिल्माया गया दिल तोड़ के हंसती हो मेरा.. गीत

बता दें कि 15 जुलाई 2021 को यूटयूब पर रिलीज किया गया संगीतकार बी प्राक का नया गाना ‘दिल तोड़ के हंसती हो मेरा’ इन्हीं के जीवन पर फिल्माया गया है। मीडिया से रूबरू होते हुए एक अभिषेक सिंह कहते हैं कि ‘दिल तोड़ के हंसती हो मेरा’ गीत मेरी निजी जिंदगी से काफी मिलता जुलता है। कॉलेज की पढ़ाई के दौरान मैं भी किसी से बेइंतहा मोहब्बत करता था पर मुझे प्यार में धोखा मिला। तब मैं बुरी तरह से टूट चुका था।

सुसाइड तक करने की सोचने लगा था, मगर फिर मैंने अपने आप को संभाला और यूपीएससी की तैयारियों में जुट गया। वर्ष 2011 में आईएएस बनने में सफल रहा। ‘दिल तोड़ के’ गाने की लास्ट लाइन सिर्फ दिल टूटा है। सांस नहीं। धड़कनों में रवानी अभी बाकी। प्यार का किस्सा खत्म हो गया तो क्या जिंदगी की कहानी अभी बाकी हैं, मेरी संबसे पसंदीदा लाइनें हैं।

क्या करते हैं IAS अभिषेक सिंह के परिवार के सदस्य

अभिषेक सिंह की माता गृहिणी हैं। उनके पिता आईपीएस अधिकारी रह चुके हैं। वहीं चाचा यूपी पुलिस में डिप्टी एसपी पद से सेवानिवृत्त हो चुके हैं। चेचरे भाई भी पुलिस में हैं। इनकी छोटी बहन दंत रोग विशेषज्ञ हैं। दादा स्कूल टीचर रहे। अभिषेक सिंह के डेब्‍यू सॉन्‍ग ‘दिल तोड़ के’ को लोगों ने खूब पसंद किया। इस गाने का ऑफर मिलने की कहानी भी काफी रोचक है। दरअसल वे पिछले साल सरकारी काम से मुंबई गए थे। अभिनेता सुशांत सिंह की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ के निर्देशक मुकेश छाबड़ा अभिषेक सिंह के दोस्त हैं। वहीं दिल्ली क्राइम सीजन 2 वेब सीरीज की टीम के साथ उन्हें लंच के लिए बुलाया गया था।

मुकेश ने अभिषेक को टीम से मिलवाते हुए बताया कि ये वेब सीरीज बना रहे हैं, इन्हें दिल्ली पुलिस से संबंधित कुछ जानकारियां चाहिए। किसी ने मुझसे पूछा कि आपने क्या-क्या ऐक्टिंग की है अब तक। फिर वहां कुछ लोग थे जो हंसने लगे और कहा कि ये कोई एक्टर नहीं बल्कि दिल्ली के डिप्टी कमिश्नर हैं। वे कहने लगे कि तभी मैं सोच रहा था कि एक अभिनेता को पुलिस के बारे में इतना कुछ कैसे पता है। उन्होंने पूछा- ‘आप ऐक्टिंग करना चाहोगे? हमारी वेब सीरीज में एक किरदार है जो आईएएस ऑफिसर का ही है। आपकी बॉडी लैंग्वेज देखकर ऐसा लगता है कि आप उस किरदार में फिट हो और कैरक्टर रियल लगेगा।’।जब दिल्ली क्राइम 2 के एक गाने का ऑफर मिला

एक साक्षात्कार के दौरान वे बताते है कि ‘ मुझसे पूछा गया कि वेबसीरीज में काम करोगे, मैंने कभी ऐसा कुछ किया नहीं था तो जवाब समझ नहीं आया। मुकेश छाबड़ा ने कहा- हम 2-3 लाइन आपको देते हैं, कैमरे पर बोलकर देखो। मुझे भी नई चीजें करने का शौक रहा है तो स्क्रीन टेस्ट दिया और सबको पसंद आ गई। इसके बाद मुझे शॉर्ट फिल्म का ऑफर मिला वो भी कर ली। इसके बाद दिल्ली क्राइम की शूटिंग की।’ उसी दौरान बाइक पर बैठे हुए की एक तस्वीर अखबार में छपी थी, जिसे देखकर टी-सीरीज की टीम ने ‘दिल तोड़ के’ गाने का ऑफर दिया।