जानिए उस जीव के बारे में जिसे अमर माना जाता है

हमने अपने स्कूल में पढ़ा था कि कई हजारों साल पहले हमारी धरती पर डायनासोर रहा करते थे, लेकिन हम ये नहीं जानते कि उस समय महासागर में कौन रहता था। इन दुनिया में डायनासोर से भी पुराना जीव है। जेलीफिश। माना जाता है कि जेलीफिश का जीवन समुद्र में 65 करोड़ साल पहले शुरू हो चुका था।

एक तरह से अमर कही जाने वाली जेलीफिश के पास एक ऐसी शक्ति है कि ये अपने ही सेल्स की पहचान कोबदल कर फिर अपने जीवन की युवा अवस्था में पहुंच सकती है। जी हाँ ये किसी भी उम्र में अपना आकार-प्रकार बदलकर दोबारा वृद्धावस्था से बालावस्था में आ सकती है। ये तमाम समुद्र की गहराई में हैं और ऊपरी सतह पर भी दिख जाती हैं। इसे भले ही जेलीफिश कहा जाता हो, लेकिन असल में यह मछली नहीं है। यह मूंगों और एनीमोन के परिवार की सदस्य हैं। इन्हें मेडुसोजोआ नाम से भी जाना जाता है।

jellyfishhav_image

जेलीफिश के शरीर में 99 फीसदी पानी होता है। इसके शरीर का सबसे बड़ा हिस्सा छत्रनुमा ऊपरी हिस्सा है। इसके जरिये जेलीफिश खुराक लेती है और धागे जैसे लटके रेशों की मदद से ये शिकार करती है। जेलीफिश खुद तैरकर दूसरी जगह नहीं जा पातीं। ये समुद्री लहरों के साथ ही बहती हैं। लहरों की दिशा में बहते हुए जेलीफिश अपने शरीर को सिकोड़ती और फुलाती है।

शोधकर्ताओं की एक टीम ने हाल ही में जेलीफिश के डीएनए के एक छोटे से हिस्से का अध्यन किया था। इटली के सेलेंटो विश्वविद्यालय के प्रोफेसर स्टेफानो पिराइनो भी इस काम में शामिल थे। प्रोफेसर पिराइनो ने लैब में जेलीफिश की मौत को भी देखा है जो कि दुखद है।  उनका कहना हैकि ये पूरी तरह अमर नहीं है।