Stamp Duty In UP : यूपी में राज्य सरकार ने शहरी गरीबों को दिया बड़ा तोहफा, स्टांप के लिए देना होगा मात्र 500 रुपये

Stamp Duty In UP

Stamp Duty In UP : जब से यूपी में बीजेपी की योगी सरकार सत्ता में आई है तब से मुख्यमंत्री योगी यहां के गरीबों के लिए कार्य कर रहे हैं। चाहे वो कोरोना काल में गरीबों को राशन देना हो या फिर कोरोना की वैक्सिन हो, हर मामले में मुख्यमंत्री योगी खुद ही योजनाओं का बारीकी से निरीक्षण करते हैं और अधिकारियों से पल-पल की जानकारी लेते रहते हैं। कोरोना की लड़ाई में यूपी ने जिस तरह से काम किया उसकी तारीफ पूरी दुनिया में होती है। योगी के दूसरे कार्यकाल में भी आम आदमी और गरीबों का पूरा ध्यान रखा गया है।

स्टांप के लिए देना होगा मात्र 500 रुपये

UP के CM योग आदित्यनाथ ने आज शहरी क्षेत्र में रहने वाले गरीब लोगों को बड़ी राहत दी है। शहर के निज़ी डेवलपरों को EWS इकाइयों को पंजीयन के लिए अब सिर्फ 500 रुपये स्टांप देना होगा। मुख्यमंत्री के इस कार्य से पंजीयन में आवेदकों की काफी बचत होगी साथ ही सरकार दिल्ली-ग़ाज़ियाबाद-मेरठ-RRTS-कानपुर-आगरा-वाराणसी-गोरखपुर और अन्य शहरों में मेट्रो परियोजना के लिए 2750 करोड़ रुपये भी दिए हैं।

Photo by Pixabay

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आवास और शहरी नियोजन विभाग को बज़ट में 3 हज़ार करोड़ रुपये से ज़्यादा की धनराशि दी है। शहरों को सुव्यवस्थित विकास के साथ ट्रांसपोर्टेशन पर भी ज़ोर दिया है। अल्प, लघु और दुर्बल आय के वर्ग के लिए घर उपलब्ध कराने के लिए अफोर्डेबल हाऊसिंग उपविधि 2021 जारी की है।

मेट्रों परियोजनाओं के लिए 2750 करोड़ रुपये आवंटित

यूपी की सरकार ने प्रदेश में बन रहे मेट्रो परियोजनाओं के साथ-साथ नई परियोजनाओं के लिए भी 2750 करोड़ रुपये दिए हैं। सबसे ज़्यादा दिल्ली-ग़ाज़ियाबाद-मेरठ-RRTS कॉरिडोर के लिए 1306 करोड़ प्रस्तावित किए हैं। कानपुर मेट्रो रेल परियोजना की लागत के लिए सरकार ने 11,076 करोड़ रुपये और इस वर्ष वित्त 747 करोड़ रुपये प्रस्तावित किए हैं। आगरा मेट्रो रेल परियोजना के की लागत 8380 करोड़ रुपये है। इसमें 597 करोड़ रुपये का बजट दिया गया है। इसके साथ ही वाराणसी-गोरखपुर व अन्य शहरों में भी मेट्रो परियोजना के लिए 100 करोड़ रुपये का बजट दिया गया है।