Karauli Cop Netresh Sharma : आग की लपटों के बीच से बचाई महिला और बच्चे की जान, सोशल मीडिया पर लोग इस पुलिसकर्मी के साहस को कर रहे सलाम

Karauli Cop Netresh Sharma

Karauli Cop Netresh Sharma : बड़े पर्दे पर करतब दिखाते हीरो को तो आपने कई बार देखा होगा, लेकिन रील लाइफ से अलग रियल लाइफ हीरो की बहादुरी के बारे में आज हम आपको बताने वाले हैं। इस रियल लाइफ हीरो का नाम है नेत्रेश शर्मा और ये राजस्थान पुलिस में कांस्टेबल के पद पर कार्यरत हैं। करौली में हिन्दू नव वर्ष पर भड़की हिंसा के बीच इन्होंने कुछ ऐसा कर दिखाया कि हर कोई नेत्रेश पर गर्व कर रहा है और उनकी हिम्मत की दाद दे रहा है।

जान पर खेलकर बचाई जान

करौली में नव संवत्सर के मौके पर मुस्लिम बहुल इलाके से एक बाइक रैली गुजर रही थी। इस बीच कुछ लोगों ने इस रैली पर पथराव कर दिया। जिसके बाद देखते ही देखते हिंसा भड़क उठी। कुछ दुकानें और वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया और जमकर तोड़फोड़ हुई। उपद्रवियों के उत्पात के बीच चारों तरफ अफरा-तफरी का माहौल बन गया था। इस दौरान बाजार में खरीदारी करने आईं दो महिलाएं अपने बच्चे के साथ वहां फंस गईं। उन्होंने हिंसा से बचने के लिए एक मकान की शरण ली, लेकिन वहां भी कुछ देर बाद आग लग गई और वहां मौजूद तीनों लोग आग की लपटों के बीच घिर गए।

ये मंजर देखकर बच्चा जोर-जोर से रोने लगा और महिलाएं ‘बचाओ-बचाओ’ बोलकर मदद की गुहार लगाने लगी। इस बीच घटनास्थल पर मौजूद कांस्टेबल नेत्रेश शर्मा ने उनकी आवाज सुन ली और अपनी जान पर खेलते हुए मौके पर पहुंच गए। जिसके बाद नेत्रेश ने बच्चे को एक कपड़े में लपेटकर गोद में उठाया और आग की लपटों से बचते हुए बाहर निकल आए। नेत्रेश के पीछे दोनों महिलाएं भी सुरक्षित रूप से बाहर आ गईं। आग के बीच बच्चे को गोद में उठाए बाहर निकलते नेत्रेश की एक तस्वीर भी वायरल हो रही है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी की तारीफ

इस घटनाक्रम के बाद हर तरफ नेत्रेश की बहादुरी को लेकर चर्चाएं हो रही हैं। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी नेत्रेश की सराहना की है। सीएम गहलोत ने बाकायदा गहलोत को फोन करके शाबासी दी है।

मुख्यमंत्री ने नेत्रेश के कर्तव्य निष्ठता को देखते हुए उन्हें हेड कांस्टेबल के पद पर पदोन्नत करने का फैसला भी किया है। सीएम ने कहा है कि अपनी जान की परवाह किए बगैर कर्तव्य निभाने वाले नेत्रेश का काम प्रशंसनीय है।

राजस्थान पुलिस ने किया सलाम

वहीं राजस्थान पुलिस ने भी सोशल मीडिया साइट टि्वटर पर एक फोटो शेयर करते हुए नेत्रेश को सलाम किया है। राजस्थान पुलिस ने लिखा, “एक मां को साथ लिए, सीने से मासूम को चिपकाए दौड़ते खाकी के कदम।

राजस्थान पुलिस के कांस्टेबल नेत्रेश शर्मा के जज्बे को सलाम। करौली उपद्रव के बीच आमजन की सुरक्षा पुख्ता करने में जुटी पुलिस।” बता दें कि 2013 में राजस्थान पुलिस में नेत्रेश की नियुक्ति कॉन्स्टेबल के रूप में हुई थी।