Abhishek Jain IAS : दादा जी से प्रेरणा लेकर शुरू की यूपीएससी परीक्षा की तैयारी, दूसरे प्रयास में बनें IAS अधिकारी

Abhishek Jain IAS

Abhishek Jain IAS : महान विभूति स्वामी विवेकानंद कहते हैं, ‘उत्तिष्ठत जाग्रत प्राप्य वरान्निबोधत’ अर्थात् उठो, जागो और ध्येय की प्राप्ति तक रूको मत। स्वामी जी का ये वचन जिंदगी में सफलता का मूल मंत्र है। जब सिविल सेवा परीक्षा जैसी कठिन चुनौती सामने हो, तब ये बात और भी ज्यादा गौर करने लायक हो जाती है।

UPSC साफ तौर पर लक्ष्य के प्रति समर्पण और कुछ सकारात्मक करने का जुनून मांगती है, और जो भी इसमें खरा उतरता है उसे सफलता का स्वाद चखने को मिलता है। आज हम एक ऐसे ही समर्पित IAS के बारे में बताने जा रहें हैं. इस आईएएस अधिकारी का नाम अभिषेक जैन है.

कौन है (Abhishek Jain IAS) आईएएस अभिषेक जैन

अभिषेक जैन मूल रूप से दिल्ली के रहने वाले हैं। अभिषेक ने अपनी शुरुआती पढ़ाई भी राजधानी में रहते हुए पूरी की है। जिसके बाद उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से B.Com किया। चूंकि अभिषेक बचपन से ही सिविल सेवा के क्षेत्र में आने का ख्वाब देखते थे, ऐसे में ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद उन्हें पता था कि आगे क्या करना है।

उनका लक्ष्य एकदम साफ था। फिर क्या था उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी। अभिषेक अपने दादा जी से भी काफी प्रभावित थे, जो IAS के अंडर में रहकर काम करते थे। उन्हें किसी भी तरह IAS की कुर्सी चाहिए थी।

पहले प्रयास में मिली सफलता, फिर भी नहीं रूके

UPSC की परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए अभिषेक (Abhishek Jain IRS) ने कोचिंग ज्वाइन की। उन्होंने जी तोड़ मेहनत की और अपना पहला अटेंड देने के साथ ही उन्होंने कामयाबी भी हासिल की। पहले प्रयास में उनकी ऑल इंडिया 111वीं रैंक आई। हालांकि वह खुश नहीं थे क्योंकि इस रैंक के साथ उन्हें IRS (भारतीय राजस्व सेवा) अलॉट किया गया था और वो सिर्फ IAS ही बनना चाहते थे।

अभिषेक का कहना है IRS का देश के निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान है, लेकिन IAS बनकर ज़मीनी स्तर पर समाज के लिए काम किया जा सकता है। जिनको सच में जरूरत है उनकी मदद की जा सकती है। इसलिए उन्होंने एक और प्रयास करने का मन बना लिया और अपने दूसरे प्रयास के लिए और भी ज्यादा कड़ी मेहनत शुरू कर दी।

आखिरकार IAS बनकर किया परिवार का नाम रोशन

पहले प्रयास की कमियों को दूर करते हुए महज़ 24 साल की उम्र में अभिषेक ने अपना दूसरा UPSC अटेंड दिया और इस बार सफलता की नई कहानी लिख दी। 2019 सिविल सेवा परीक्षा में उन्होंने ऑल इंडिया 24वी रैंक (Abhishek Jain Rank) हासिल की और अपने IAS बनने के सपने को हकीकत बना डाला।

अभिषेक बताते हैं कि सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के दौरान उन्होंने कभी भी अपने मन में निराशा को पैदा होने नहीं दिया। उनका मानना है कि सकारात्मकता ही आगे बढ़ने में मदद करती है। अभिषेक ने शुरुआत से ही ये मानकर तैयारी की, कि ये उनका पहला और आखिरी मौका है। अभिषेक कहते हैं कि कोचिंग से आपको गाइडेंस मिल जाती है, लेकिन पढ़ना आपको खुद ही पड़ता है। ऐसे में सफल होने के लिए सेल्फ स्टडी पर सबसे ज्यादा ध्यान होना चाहिए। इसके अलावा अभिषेक पढ़ाई के बाद रिवीजन को सबसे ज्यादा अहम मानते हैं।