Kanpur Dehat Flood : यमुना नदी उफान पर, कई गांवों का संपर्क टूटा, स्कूलों की छतों रहने को मजबूर लोग

Kanpur Deaht Flood

Kanpur Dehat Flood :कानपुर देहात के राजपुर की बात करें तो यहां यमुना का जलस्तर पिछले 24 घंटे में लगभग सवा दो मीटर बढ़ा है। बाढ़ के प्रकोप में 30 गांव आए हैं। बाढ़ से लगभग दो हज़ार बीघा फसल बर्बाद हो चुकी है। मजबूर लोग सरकारी स्कूलों की छतों पर अपना बसेरा बनाने को मजबूर हैं। वहीं आने जाने के लिए कुछ जगहों पर लोग नाव का सहारा ले रहे हैं।

नदी का जलस्तर बढ़ने से 22 गांवों में भरा पानी

यमुना का जलस्तर बढ़ने से सेंगुर नदी उफान पर है। मूसानगर के 22 से ज़्यादा गांव पानी से घिरे हुए हैं। गांव के लोगों ने बताया कि पुरवा गांव और पथार गांव में घरों के नीचे पानी भर गया है। आने जाने के सभी रास्ते बंद हैं और बहुत जरूरी होने पर लोग नाव का सहारा ले रहे हैं। पानी भरने से लोगों ने अपनी गृहस्थी को सरकारी स्कूलों की छतों पर रखा है। सबसे बड़ी समस्या मवेशियों की है। ग्रामीणों को मवेशियों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने पर सबसे ज़्यादा समस्या आ रही है। फिर जैसे-तैसे ग्रामीण मवेशियों को ऊंचाई पर ले जाने की कोशिश कर रहे हैं।

111.20 मीटर पानी ऊपर आया

केंद्रीय जल आयोग कालपी के एक कर्मचारी ने जानकारी देते हुए बताया कि यमुना नदी का जलस्तर 111.20 मीटर तक ऊपर आ गया है। जो कि खतरे के निशान से सवा 3 मीटर ऊपर है। यहां पर बसा एक गांव महदेवा जो पूरी तरह से पानी से घिर गया है। सारे संपर्क टूट जाने के बाद लोगों को मजबूर होकर नाव से आना जाना पड़ रहा है। मकानों में पानी भरने के बाद लोग अपने लिए सुरक्षित स्थान तलाशने में जुट गए हैं। जैसलपुर गांव में बाढ़ का पानी भरने से गांव के ही प्राइमरी स्कूल में 3 परिवारों को ठहराया गया है। ग्रामीण ने बताया कि पानी में जानवरों का भूसा भी बह गया है जिससे उनके भोजन की समस्या आ रही है।