Vande Bharat Train : बुलेट ट्रेन से कम नहीं भारत की ये ट्रेन, बिना इंजन की इस ट्रेन की जानें क्या है खासियत

Vande Bharat Train

Vande Bharat Train : केंद्र सरकार भारतीय रेलवे को लेकर काफी सजग है। कई बार प्रधानमंत्री मोदी बुलेट ट्रेन और ट्रेनों की स्पीड को और तेज करने के लिए कह चुके हैं, ताकि आम लोग कम समय में ज़्यादा दूरी तय कर पाएं। ऐसा होने भी जा रहा है एक तरफ जहां बुलेट ट्रेन के लिए काम किया जा रहा है तो वहीं वंदे भारत जो कि सेमी हाई स्पीड ट्रेन है वो पहले से काफी बेहतर परफार्म कर रही है.

भारत में हाई स्पीड ट्रेन चलाने की तैयारी चल रही है लेकिन अभी इसके चलने में समय है। स्देशी तकनीक से विकसीत भारतीय रेल की सेमी हाई स्पीड वंदे भारत ट्रेन ज़ीरों से 100 किमी. की रफ्तार तक पहुंचने में विदेशी ट्रेन से भी ज़्यादा तेज़ होगी। वंदे भारत की बात करें तो ये मात्र 54 सेकंड में ही इसको छू लेगी।

बिना इंजन के दौड़ती है वंदे-भारत

रेलवे अधिकारी के मुताबिक वंदे भारत काफी अपग्रेड है इसका यही कारण है कि इसकी स्पीड अच्छी है। ये ट्रेन इंजन नहीं बल्कि स्वचलित मोटरों की सहायता से चलती है। 16 कोच वाली इस ट्रेन के 5 कोच में मोटर लगी हुई है।

Photo by Sid Balachandran on Unsplash

मोटरों की वजह से इसकी रफ्तार में काफी मदद मिलती है। अभी वंदे भारत ट्रेन की स्पीड 160 किमी. प्रति घंटा है। जबकि इसके अपडेटेड वर्ज़न की स्पीड 180 किमी. प्रति घंटा होगी। चरणबद्ध तरीके से 12025 तक इसकी स्पीड 250 किमी. प्रति घंटा होगी।

सबसे तेज़ ट्रेनें भी एक इंजन के सहारे भागती हैं

भारत की सबसे तेज़ मानी जाने वाली राजधानी, शताब्दी और दुरंतों भी एक इंजन के सहारे चलती हैं। ऐसे में ज़ीरों से 100 किमी. प्रति घंटा की रफ्तार तक जाने के लिए इन ट्रेनों को 1.5 मिनट का समय लगता है। रेलवे ने कुछ ट्रेनों में आगे और पीछे इंजन लगाकर पिकअप तेज़ किया है। रेलवे बोर्ड देशभर में 400 सेमी हाई स्पीड भारत ट्रेन चलाने की तैयारियों में जुटा है। इसके लिए रेलवे फ्रांस, जापान, जर्मनी, चीन आदि देशों की तर्ज पर ज़्यादा क्षमता वाली इलेक्ट्रिक लाइनें बिछाएगा।