Sawan 2021 : सावन के सोमवार में भूलकर भी ना चढ़ाएं ये चीजें वरना नहीं मिलेगा कोई लाभ

Sawan 2021 : इस साल 25 जुलाई से सावन महोत्सव शुरू हो गया है. इस अवसर पर भगवान शिव के मंदिरों में भक्तों की काफी भीड़ देखने को मिली. हिंदू कैलेंडर के अनुसार श्रावण कृष्ण पक्ष की तृतीया को मनाया जाता है. सावन में भगवान शिव और माता पार्वती की आराधना की जाती है. इस साल सावन का महीना 25 जुलाई से लेकर 22 अगस्त तक रहेगा. इस दौरान कुल 4 सोमवार पड़ने वाले हैं.ऐसा माना जाता है कि इस दिन व्रत रखने से सारे कष्ट दूर हो जाते हैं.

भगवान शिव की पूजा काफी आसान मानी जाती है. लेकिन कुछ लोग इसमें भी गलती कर देते हैं. भोले की भक्ति में कुछ ऐसी चीजें शंकर भगवान को अर्पित करते हैं जिससे पूजा पाठ पूरी तरह से बेकार हो जाती है. आइए जानते हैं कौन भोलेनाथ को कौन सी चीजें नहीं चढ़ानी चाहिए

1.केतकी और केवड़े के सफेद फूल नहीं चढ़ाना चाहिए. शिवपुराण के अनुसार केतकी ने भोलेनाथ से झूठ बोला था जिस कारण उन्होंने इस फूल को अपनी पूजा से वर्जित कर दिया था.

2. भगवान शिव ने शंखचूर नामक एक असुर का वध किया था इसलिए उनकी पूजा में शंख वादन भी नहीं करना चाहिए

3.भोलेनाथ की आराधना में तुलसी के पौधे का भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. ऐसा कहा जाता है कि भोलेनाथ ने राज जालंधर नामक असुर को मारा था जिसके बाद उसकी पत्नी ने तुलसी का रूप धारण कर लिया था. और भोलेनाथ को तुलसी का पौधा इस्तेमाल ना करने के लिए कहा था.

4.नारियल के पानी को लक्ष्मी का रूप माना जाता है. इसे शुभ कार्यों में इस्तेमाल किया जाता है. अगर हम इसे भोलेनाथ पर अर्पित करते हैं तो नारियल पानी ग्रहण करने लायक नहीं रहता है. इसलिए हो सके तो सावन में शिव की पूजा के दौरान इसका इस्तेमाल ना करें

5. शास्त्रों के अनुसार शिवलिंग की मूर्ति को पुरुषत्व का प्रतीक माना जाता है.ऐसे में भोलेनाथ की पूजा में हल्दी का उपयोग भी वर्जित बताया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *