Kathmandu Special train : भारत और नेपाल के बीच चलेगी स्पेशल ट्रेन, ढाई घंटे में पहुंचेंगे काठमांडू

kathmandu bihar special train

Kathmandu Special train : नेपाल भारत का पड़ोसी देश है। भारत और पूरी दुनियां से लोग नेपाल घूमने जाते हैं। भारत के लोगों के लिए नेपाल पर्यटन के हिसाब से बहुत ही अच्छा देश है। नेपाल जाने के लिए भारत के लोगों को वीजा की भी ज़रुरत नहीं पड़ती है। इसी कड़ी में दोनों देशों की तरफ से बड़ा फैसला लिया गया है। भारत और नेपाल ने मिलकर रेल सेवा को लांच किया है। ये ट्रेन भारत के जयनगर से नेपाल के कुर्था तक जाएगी। ये एक नई क्रॉस बॉर्डर यात्री ट्रेन होगी। भारत के प्रधानमंत्री मोदी नेपाल के पीएम शेर बहादुर देउबा ने मिलकर इस ट्रेन सेवा को लांच किया है। इस ट्रेन की क्षमता 1000 यात्रियों की होगी।

रेल लिंक को नेपाल में बर्दीबास तक बढ़ाया जाएगा

जानकारी के लिए आपको बता दें कि 1937 में अंग्रेजों ने नेपाल के जयनगर और बिजलपुरा के बीच रेल सेवा शुरू की थी। 2001 में आई बाढ़ ने इस सेवा को बर्बाद कर दिया था। बाद में भारतीय परियोजना की सहायता से रेल लिंक को नेपाल में बर्दीबास तक बढ़ाया जाएगा। नेपाल

Photo by on unsplash

की रेलवे कंपनी ट्रेन का संचाल करेगी। इरकॉन इंटरनेशनल लिमिटेड नाम की रेलवे कंपनी के एक विंग को सौंपी गई है। इसे तीन चरणों में पूरा किया जाएगा।

दोनों देशों के बीच होगा पहला ब्रॉड गेज पैसेंजर रेल लिंक

जयनगर-कुर्थ सेक्शन के निर्माण की लागत 383 करोड़ रुपये से ज्यादा है। दोनों देशों के बीच ये पहला ब्रॉड गेज पैसेंजर रेल लिंक है। एक ब्रॉड-गेज को इन रेलवे गेजों में दो पटरियों के बीच की दूरी 5 फीट 6 इंच (1676 मिमी) या 1,435 मिमी से अधिक चौड़ा कोई भी गेज के रूप में परिभाषित किया गया है। जयनगर भारत-नेपाल की सीमा से चार किलोमीटर दूरी पर स्थिति है। अगर इस परियोजा की बात करें तो ये भारत में 2.95 किलोमीटर है और नेपाल में 65.75 किलोमीटर है। यात्रियों के लिए आठ स्टेशन और छह हाट स्टेशन हैं। इनरवा स्टेशन में कस्टम प्वाइंटस बनाए गए हैं।