Economy crash 2020 : दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में 44 साल में सबसे बड़ी गिरावट, पहली तिमाही में चीन को 7% का झटका

Economy crash 2020 : कोरोना वायरस से इस समय पूरी दुनिया जूझ रही है। पूरी दुनिया के हालात बदतर हो गए हैं। हर देश की अर्थव्यवस्था को झटका लगा है। हालांकि कहा जा रहा था कि चीन के हालात सुधर रहे हैं। यहां तक चीन की अर्थव्यवस्था में सुधार आ रहा है। लेकिन हाल ही में आई रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना से चीन की अर्थव्यवस्था भी धड़ाम हो गई है।

चीन की जीडीपी में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है जो कि 1976 की विनाशकारी सांस्कृतिक क्रांति के बाद सबसे बड़ी गिरावट है। इस साल 2020 (Economy crash 2020) की पहली तिमारी में चीन की जीडीपी 6.8 फीसदी गिर गई है। दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था की रफ्तार भी अब थम चुकी है।

ये जानकारी चीन के एनबीएस (National Bureau of Statistics of China) ने दी थी। एनबीएस के मुताबिक 2020 की पहली तिमाही यानि जनवरी से मार्च में चीन की जीडीपी 20,650 अरब युआन यानि करीब 2910 डॉलर रह गई है। एनबीएस के आंकड़े देखें तो पहले 2 महीनों में चीन की जीडीपी में 20.5 फीसदी की गिरावट आई है। हालांकि तीसरे महीने में थोड़ा सुधार आया है।

Economy crash 2020

आपको बता दें कि 2019 में चीन की इकॉनोमी में 6.1 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई थी। ये बढ़ोत्तरी अमेरिका के साथ व्यापार की लड़ाई में पिछले 29 सालों में सबसे कम था लेकिन 6 फीसदी के मनोवैज्ञानिक तौर पर बढ़ी थी।

Economy crash 2020

लेकिन ताजा किए जारी आंकड़ों को देखें तो दिसंबर 2019 से चीन के वुहान से शुरु हुए कोरोना ने सिर्फ चीन को ही नहीं पूरी दुनिया को प्रभावित किया है। जिससे चीन को भी बड़ा झटका लगा है। चीन की अर्थव्यवस्था में पहले से ही मंदी दिख रही थी लेकिन अब और गिरावट से चीनी अर्थव्यवस्था पस्त हो गई है।

कोरोना से भारत की अर्थव्यवस्था भी प्रभावित हुई है। भारतीय शेयर बाजार में भी उतार चढ़ाव देखा जा रहा है। शुक्रवार को भारतीय रुपए ने अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 45 पैसे की बढ़त हासिल की। वहीं अंतरबैंक विदेशी मुद्रा में रुपया 76.59 पर खुला और डॉलर से बढ़त हासिल करते हुए 76.42 पर पहुंच गया।

इससे पहले भारतीय शेयर बाजार में गिरावट भी दर्ज की गई थी लेकिन भारतीय शेयर बाजार कभी बढ़त तो कभी गिरावट के साथ खुल और बंद हो रहा है। देश में कोरोना की वजह से 3 मई तक लॉक डाउन है। सारे काम बंद हैं इसीलिए अर्थव्यवस्था में गिरावट आ रही है।