Agra Metro Train News : इस तकनीक की बदौलत आगरा में बिना ड्राइवर के दौड़ेगी मेट्रो ट्रेन, जल्द होगा ट्रायल

Agra metro train

Agra Metro Train : अभी तक मेट्रो और ट्रेनों को चलाने के लिए ड्राइवर ज़रुरत पड़ती थी लेकिन अब उत्तर प्रदेश में नई तकनीक के इस्तेमाल से मेट्रो बिना ड्राइवर के ही ट्रैक पर दौड़ेगी। हालांकि ट्रेन में ड्राइवर मौजूद रहेगा लेकिन वो ट्रेन को संचालित नहीं करेगा। ड्राइवर सिर्फ मेट्रो में इमरजेंसी में दरवाज़ों खोलने और बंद करने लिए मौजूद रहेगा। इस नई तकनीक को शुरू करने के लिए आपको थोड़ा इंतज़ार करना पड़ेगा। साल 2023 में फरवरी के महीने में इस मेट्रो का ट्रायल किया जाएगा।

बिना ड्राइवर के चलेगी मेट्रो ट्रेन

UPMRC मतलब की उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने डिपो परिसर में ट्रैक पर शंट और सिंग्नल को लगाने का काम शुरू कर दिया है। अभी की बात करें तो यहां पर 3 किलोमीटर लंबा ट्रैक बिछ चुका है। ये ट्रेन पूरी तरह से ऑटोमैटिक होगी। इसका संचालन कमांड सेंटर से होगा। सरल शब्दों में कहें तो ये ट्रेन अपने आप चलेगी। इसको कोई ड्राइवर नहीं चलाएगा।

Photo by unsplash

ड्राइवर सिर्फ इमरजेंसी में मेट्रो के दरवाज़ों को खोलने और बंद करने का काम करेगा। CBTC ट्रेन चलाने की सबसे अच्छी तकनीकों में से एक है। इस ट्रेन के सिग्नल का इस्तेमाल कम्यूनिकेशन बेस्ड कंट्रोल सिस्टम पर काम करेगा। CBTC सिग्नल से ट्रैक पर रही ट्रेनों के बीच संपर्क रहेगा।

इन जगहों तक संचालन का है उद्देश्य

आपको बता दें कि मेट्रो ट्रेन के संचालन में जो सिग्नल का इस्तेमाल होता है वो रेलवे से बिल्कुल अगल होता है। वैसे तो हरा रंग रेलवे में आगे बढ़ने का प्रतीक होता है और लाल रंग रुकने के लिए होता है। बैंगनी रंग का इस्तेमाल सावधानी के लिए होता है। स्वचलित मेट्रो के लिए स्कॉडा सिस्टम का होगा। ट्रेनों में लगे सीसीटीवी कैमरे से पूरे कॉरिडोर पर नज़र रखी जाएगी। ये ट्रेन साल 2024 में लोगों के लिए उपलब्ध रहेगी। ये ट्रेन आगरा तक ताजूपर्वी गेट से जामा मस्जिद तक बनाई जाएगी। प्रशासन का लक्ष्य है कि इसमें छह स्टेशन हों।