upsc Preparation after 12th : 12वीं के बाद यूपीएससी परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए आजमाएं ये तरीका, इन किताबों से करें पढ़ाई

upsc Preparation after 12th

UPSC Preparation after 12th:यूपीएससी परीक्षा पास कर सिविल सेवा में अधिकारी बनना लगभग हर युवा का सपना होता है. इस सपने को पूरा करने के लिए हर साल लाखों को यूपीएससी की परीक्षा देते हैं. लाखों लोगों की इस भीड़ में सफलता सिर्फ कुछ ही लोगों को हासिल हो पाती है. यूपीएससी परीक्षा में कंप्टीशन कितना ज्यादा है इसका अंदाजा आप इस बात से ही लगा सकते हैं कि पिछले साल 9,70,000 अभ्यर्थियों ने यूपीएससी की परीक्षा में फार्म भरा था. इसमें महज 761 कैंडीडेट्स ही सफलता हासिल कर सके.

इस परीक्षा में अभ्यर्थी को एक रणनीति के आधार पर मेहनत करनी होती है. अगर परीक्षा की रणनीति में जरा सी भूल हो गई तो सफलता हासिल करना काफी मुश्किल हो जाता है. upsc परीक्षा कोई भी शख्स ग्रेजुएशन के बाद दे सकता है. लेकिन ज्यादा कंप्टीशन होने की वजह से ज्यादातर अभ्यर्थी 12वीं के बाद से ही सिविल सेवा की तैयारी करना शुरू कर देते हैं. ऐसे में अब ये सवाल उठता है कि क्या 12वीं के बाद यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करना सही है या नहीं ?

12वीं के बाद यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करना किसी भी कैंडिडेट के ऊपर निर्भर करता है. अगर आप अपने कॉलेज की पढ़ाई से समय निकाल पाते हैं और यूपीएससी परीक्षा के लिए बैलेंस फॉर्म में पढ़ाई कर पाते हैं तो आप साथ ही साथ यूपीएससी परीक्षा की तैयारी शुरू कर सकते हैं

यूपीएससी परीक्षा (upsc Preparation after 12th) के सिलेबस को अच्छी तरह से समझे

अगर आप 12वीं के बाद यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करना चाहते हैं तो यूपीएससी परीक्षा के सिलेबस और पैटर्न को समझने में ज्यादा से ज्यादा समय दे सकते हैं. ग्रेजुएशन में दाखिला लेते समय आप उसी विषय को चुनें जिसमें आपकी रुचि हो और यूपीएससी के लिए भी उसी विषय को चुन सकें. इससे आपका पढ़ाई में मन भी लगेगा और आपकी रणनीतिक स्तर पर तैयारी शुरू हो जाएगी.

यूपीएससी मेंन्स की परीक्षा में लेखन भी मांगते हैं. इसलिए पढ़ाई के साथ साथ लेखन पर भी फोकस करें. जितना हो सके मॉक टेस्ट दें. इसके साथ जनरल नॉलेज और लाइव इवेंट्स से खुद को अपडेट रखें. इसलिए शुरुआत में अखबार और न्यूज चैनल के माध्यम से जनरल नॉलेज की समझ ज्यादा से ज्यादा विकसित कर लें.

12वीं के बाद NCERT की किताबों से करें पढ़ाई

यूपीएससी परीक्षा में NCERT की किताबों का अच्छा खासा योगदान होता है. छोटे बच्चों के लिए लिखी जाने वाली ये किताबें नींव मजबूत करने का काम करती हैं. इसलिए अगर आप यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो NCERT की किताबों को नजरअंदाज बिलकुल भी ना करें.

कई बार यूपीएससी परीक्षा में NCERT की किताबों से सीधे सवाल पूछ लिए जाते हैं. ऐसे में इन किताबों को हमेशा पढ़ते रहना चाहिए. ये किताबें आपका बेसिल क्लियर करने में काफी मददगार साबित होंगी.

परीक्षा में बैठने के लिए आयु कितनी होनी चाहिए

यूपीएससी परीक्षा (upsc Preparation after 12th) में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों की उम्र 21 वर्ष से 32 वर्ष के मध्य होती है. वहीं, पिछड़े वर्ग के अभ्यर्थियों को इसमें छूट प्रदान की जाती है, 21 वर्ष से 35 वर्ष तक के अभ्यर्थी इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं.