Sameer saurabh ias : IIT से इंजीनयरिंग की पढ़ाई के बाद शुरू की यूपीएससी परीक्षा की तैयारी, पहले बनें IPS फिर IAS अधिकारी बनकर किया सपना पूरा

Sameer saurabh ias

Sameer saurabh ias : यूपीएससी की परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है. इस परीक्षा में सफलता हासिल करना कोई आसान काम नहीं है. आज हम आपको जिस आईएएस अधिकारी के बारे में बताने जा रहे हैं उनका नाम समीर सौरभ है. समीर ने पहले तो आईआईटी से इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की और इसके बाद उनका सिविल सेवा में सिलेक्शन हो गया.

उनकी कहानी ऐसे लोगों के लिए प्रेरणा हो सकती है जो इंजीनियरिंग या किसी अन्य सब्जेक्ट की पढ़ाई करते हुए सिविल सेवा की तैयारी करना चाहते हैं. समीर ने इंजीनिरिंग की पढ़ाई के दौरान ही यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी थी. कड़ी मेहनत और लगन की बदौलत उन्होंने इंजीयरिंग भी पास की और सिविल सेवा की परीक्षा यूपीएसएसी में भी अच्छी खासी रैंक हासिल की. आइए जानते हैं उन्होंने कैसे इस परीक्षा में टॉप रैंक हासिल की

कौन हैं (Sameer saurabh ias) आईएएस समीर सौरभ

बिहार के पूर्णिया जिले के रहने वाले समीर सौरभ एक मीडिल क्लास फैमिली से ताल्लुक रखते हैं. उनकी शुरुआती पढ़ाई पूर्णिया जिले से ही हुई. स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद उन्होंने आईआईटी से इंजीनियरिंग करने का विचार किया. पढ़ाई में बचपन से ही अच्छा होने के कारण उन्होंने आईआईटी एंट्रेंस पास कर लिया.

इसके बाद उन्हें IIT Kharagpur में दाखिला मिल गया और उन्होंने इंजीनियरिंग की पढ़ाई शुरू कर दी. इंजीनियरिंग की पढ़ाई के दौरान ही उन्हें लगा कि सिविल सेवा में करियर बनाकर वो सीधा लोगों की मदद कर सकते हैं. जिसके बाद उन्होंने ग्रेजुएशन की तैयारी के दौरान यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करना शुरू कर दिया.

आसान नहीं थी यूपीएससी परीक्षा की तैयारी

समीर अपने यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के सफर के बारे में बताते हैं कि कई बार स्टूडेंट्स पढ़ाई तो कर लेते हैं, लेकिन जब परीक्षा का समय आता है तो सब भूल जाते हैं. वो कहते हैं कि उन्होंने यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के दौरान करेंट विषयों पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया और जिस समय वो जो विषय तैयार करते थे उसका जल्द से जल्द रिवीजन टेस्ट देते थे. वो कहते हैं कि उन्होंने अपनी तैयारी के दौरान बेसिक शिक्षा पर भी काफी फोकस एनसीआरटी की किताबों की मदद से पूरी की. साल 2017 में जब उन्हें लगा कि उनकी तैयारी अच्छी हो चुकी है तो उन्होंने पहली बार यूपीएससी परीक्षा दी. इस बार उन्हें सफलता हासिल हो गई. उन्होंने प्रयास में ही 142वीं रैंक हासिल कर ली. हालांकि वो आईएएस अधिकारी बनना चाहते थे. इसलिए उन्होंने अपनी तैयारी जारी रखी.

32वीं रैंक हासिल कर किया सपना पूरा

समीर ने आईपीएस अधिकारी बनने के बाद भी अपनी तैयारी नहीं छोड़ी. वो आईएएस की तैयारी करने लगे. लगातार कोशिश के बाद अगले प्रयास में साल 2018 में उन्होंने यूपीएससी परीक्षा में 32वीं रैंक हासिल की और आईएएस अधिकारी बनने का सपना पूरा कर लिया. अच्छी रैंक आने के कारण उनका परिवार काफी खुश है.

समीर ने पूर्णिया जिले में अपना नाम रोशन कर दिया. अपनी तैयारी को लेकर समीर कहते हैं सोशल मीडिया से दूरी बनाने की जगह उसे अपने फायदे के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। साथ ही परिवार और दोस्तों से कटने से अच्छा है कि आप समय-समय पर ब्रेक लें और उनके सहयोग के साथ पढ़ाई जारी रखें।