Primary school : यूपी के सरकारी प्राइमरी स्कूलों को बनाया जाएगा स्मार्ट, गरीब के बच्चों को भी मिलेगी अच्छी शिक्षा

Primary school in up

Primary school : उत्तर प्रदेश की योगी सरकार अब प्राइमरी स्कूलों आधुनिक करने जा रही है। प्राइमरी स्कूलों में स्मार्ट क्लास बनाई जाएंगी। इस योजना पर सरकार लगातार काम कर रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पिछले 5 सालों में प्राइमरी स्कूलों की दशा बदली है। इसकी एक वजह ये भी है कि प्राइमरी स्कूलों में बच्चों की संख्या में लगातार इजाफा हुआ है। पहले प्राइमरी स्कूल में बच्चों की संख्या डेढ़ करोड़ थी जो कि अब 2 करोड़ के पास पहुंच गई है।

सीएम योगी खुद परख रहे हैं शिक्षा की गुणवत्ता

मिली जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शिक्षा की गुणवत्ता को खुद परख रहे हैं। उन्होंने स्कूलों में बच्चों की संख्या को बढ़ाने के लिए स्कूल चलो अभियान की शुरुआत की है। प्राइमरी स्कूलों में बच्चों को डिजिटल शिक्षा पर ज़्यादा फोकस करवाया जाएगा। स्कूलों में स्मार्ट क्लास और रिमोट लर्निंग सिस्टम से पढ़ाई कराने पर विचार किया जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्याथ यूपी के प्राइमरी स्कूलों को कॉन्वेंट स्कूल की तरह तैयार करना चाहते हैं।

Photo by Kenny Eliason on Unsplash

प्राइमरी स्कूलों को स्मार्ट स्कूल बनाने में अभी समय तो लगेगा लेकिन सीएम योगी इसका बारीकी से निरीक्षण कर रहे हैं। विभाग और सरकार लगातार इसपर फोकस किए हुए ताकि गरीब के बच्चे भी स्मार्ट क्लास में पढ़ पाएं और अपने लिए बेहतर भविष्य बना पाए। पिछली बार की तुलना में सरकार ने शिक्षा का बजट भी बढ़ाया था। और अगर रिकॉर्ड की बात करें तो प्राइमरी स्कूलों में पिछली बार तुलना में लगातार प्राइमरी स्कूलों में बच्चों का नामांकन बढ़ा है

सरकार ने बढ़ाया शिक्षा पर बजट

जानकारी के मुताबिक बेसिक शिक्षा को सीएम योगी ने 2016-17 में 55,176 करोड़ रुपये का बजट दिया था। साल 2021-22 में मुख्यमंत्री ने इस बजट को बढ़ाकर 63,455 करोड़ कर दिया था। इसके साथ ही विभाग में 1,22,054 शिक्षकों की भर्ती भी की गई है।