Anuj Malik IAS : मां की सलाह मानकर शुरू की यूपीएससी परीक्षा की तैयारी, पहले ही प्रयास में बनीं IAS अधिकारी

Anuj Malik IAS

Anuj Malik IAS : जब इरादा साफ हो और हौसला बुलंद तो रास्ते खुद-ब-खुद खुलते चले जाते हैं। बात चाहे UPSC जैसी कठिनतम परीक्षा की ही क्यों न हो, जज्बा है तो आपको सफल होने से कोई रोक नहीं सकता। वैसे तो लाखों अभ्यर्थी हर साल इस परीक्षा में बैठते हैं, लेकिन सफल वहीं होता है जो अपने व्यक्तित्व से एक्स्ट्रा ऑर्डिनरी होता है।

सफलता की कहानी में आज हम जिस आईएएस अधिकारी के बारे में बताने जा रहे हैं उनका नाम अनुज मलिक है. उन्होंने अपने पहले ही प्रयास में यूपीएससी परीक्षा में सफलता हासिल की. उनकी कहानी ऐसे युवाओं को प्रेरणा दे सकती है जो ये मानते हैं कि यूपीएससी परीक्षा में पहले प्रयास में सफलता हासिल नहीं की जा सकती है. आइए जानते हैं अनुज मलिक ने कैसे यूपीएससी परीक्षा की तैयारी की

कौन हैं (Anuj Malik IAS) अनुज मलिक

अनुज मलिक मूल रूप से दिल्ली के लाजपत की रहने वाली हैं। अनुज के माता-पिता सरकारी सेवा में हैं। उनके पिता दिल्ली विकास प्राधिकरण में कार्यरत हैं, जबकि मां दिल्ली नगर निगम में काम कर रही हैं। अनुज का परिवार ही उनके लिए सबसे बड़ी प्रेरणा है।

अनुज ने अपनी स्कूली शिक्षा एयरफोर्स बाल भारती स्कूल, दिल्ली से पूरी की है। इसके बाद अनुज ने इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन में B.Tech किया है। इंजीनियरिंग के अपने आखिरी अंतिम साल में अनुज ने सिविल सर्विसेज में जाने का फैसला किया। 2015 में ग्रेजुएशन के बाद उन्होंने UPSC एग्जाम की तैयारी शुरू की।

मां की सलाह पर आगे बढ़ती रहीं

सिविल सेवा परीक्षा के लिए अनुज ने 1 साल घर पर रहकर ही तैयारी की। अनुज मलिक बताती हैं कि उस वक्त विषय के चयन को लेकर उनके मन में काफी दुविधा थी। उन्होंने जब मनोविज्ञान चुना तो कई लोगों ने उनसे कहा कि इस विषय से चयन की संभावना कम है। ऐसे में कन्फ्यूजन और भी ज्यादा बढ़ गया।

हालांकि इसको लेकर जब उन्होंने अपनी मां राजेश देवी से चर्चा की तो उन्होंने कहा कि तुम पहली बार परीक्षा देने जा रही हो, डरो मत। अगर तुम्हारा इंटरेस्ट इस विषय में है, तो उसे बदलो मत। जिसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। मां की सलाह के बाद उन्होंने मनोविज्ञान विषय से ही पढ़ाई शुरू की और कड़ी मेहनत की।

पहले प्रयास में हासिल की सफलता

अनुज मलिक ने अपने पहले ही प्रयास में संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा में कामयाबी हासिल की। 2016 में दिए गए पहले अटेम्प्ट में ही उन्होंने ऑल इंडिया 16वीं रैंक हासिल की और अपने सपने को सच कर दिखाया। अनुज की गिनती तेजतर्रार IAS अफसरों में होती है। अनुज मलिक के पति गौरव सिंह सोगरवाल (Gaurav Singh Sogarwal) भी एक IAS अधिकारी हैं।

वहीं अनुज हमेशा अपने काम को लेकर चर्चाओं में रहती हैं। लॉकडाउन के वक्त उन्होंने मानवता की मिसाल पेश करते हुए नंगे पांव अपने घरों को वापस लौट रहे प्रवासी मजदूरों को चप्पल मुहैया कराई थी। जिसको लेकर सोशल मीडिया पर उनकी जमकर तारीफ हुई थी। सिविल सेवा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को अनुज बताती हैं कि तैयारी करते वक्त भरोसा रखना सबसे ज्यादा जरूरी है। यहीं सफलता का मंत्र है।