क्या है ई-सिम टेक्नोलॉजी जिसे एप्पल अपने फोन में लेकर आया है

देश में पहली बार एप्पल अपने तीन नए मोबाइल फोन के साथ दस्तक देता है, जिनमें से एक मोबाइल एप्पल की डूअल फोन की सीरीज की शुरूआत करता है. आईफोन के डुअल सिम के इस फोन में सिम की जगह ई सिम लगेगा.

Image result for iphone xs and xs max

बता दें कि आईफोन पहली बार इस तकनीक को नहीं लेकर आया है. इससे पहले एप्पल की घड़ी में में ई सिम की तकनीक लगाई जा चुकी है.तो सवाल उठता है की आखिर ई-सिम किस बला का नाम? तो आपको बता दें ईसिम एम्बेडड सब्सक्राइबर आईडेंटिटी मॉड्यूल का ही शॉर्ट फार्म है.इससे आपके फोन में सिम लगाने का झंझट नहीं रहेगा.

Image result for esim

आपके सिम में जो चिप लगी होती है वो चिप आपके फोन में पहले लगी होगी. किसी भी कंपनी की सर्विसेज लेने के लिए आपको बस टेलीकॉम ऑपरेटर से बात कराकर एक्टिवेट कराना हैं.ऐसा नहीं है कि ये तकनीक पहली बार भारत में आई है,इससे पहले कई देशों में ऐसे ही सर्विस प्रोवाइडर फोन में सर्विसेज देते हैं.देश में जिओ और एयरटेल जैसी कंपनियां ऐसी तकनीक को लेकर आ गई हैं.ऐसा माना जा रहा है देश के अन्य सर्विस प्रोवाइडर भी आने वाले समय में मोबाइल यूजर्स को ऑनलाइन ही बिना सिम के सर्विसेज मिलने लगेंगी.

Image result for airtel and jio

उदाहरण के तौर पर अगर आप एयरटेल की सर्विसेज यूज करते है और किसी कारण आपको एयरटेल की सर्विसेज यूज नहीं करना है और आप जिओ की सर्विसेज यूज करना चाहते हैं तो बिना सिम डालकर ही सारी सर्विसेज एक्टिवेट करवा सकते हैं.ऐसा माना जा रहा है कि फोन में सिम का स्लॉट ना होने की वजह से फोन का साइज भी स्लिम होगा.आपको बता दें कि गूगल पिक्सल 2 पहला ऐसा फोन था जो ई सिम को सपोर्ट करता है. ये फोन अभी अमेरिका में ही लांच हुआ था लेकिन एप्पल ने इसे अपने नए फोन्स के साथ लांच कर दिया. माना जा रहा है कि आने वाले समय में कंपनियां इसी तकनीक के तहत काम करेंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *