Reliance Industries new deal : कोरोना संकट के दौरान मुकेश अंबानी ने की बड़ी डील, 52.5 लाख करोड़ के बाजार पर नजर

Reliance Industries new deal : पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है। सभी देशों की अर्थव्यवस्था कोरोना की वजह से गिर रही है। ऐसे में बड़ी-बड़ी दिग्गज कंपनियां घाटे में जा रही है। रिलायंस पर भी इसका असर पड़ा था। रिलायंस के शेयरों में गिरावट आई थी। जहां दूसरी कंपनियां मंदी की मार झेल रही हैं तो वहीं मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्री ने कुछ ही दिनों में फेसबुक, जनरल अटलांटिक, सिल्वर लेक और विस्टा इक्विटी पार्टनर जैसी बड़ी विदेशी कंपनियों से करार किया है। इस तरह ‘न्यू कॉमर्स’ के तौर पर रिलायंस को ग्रोथ का एक नया इंजन मिल गया है।

Reliance Industries new deal : रिलायंस को मिला करोड़ों का निवेश

मुकेश अंबानी की रिलायंस को इस डील से करीब 67,195 करोड़ रुपये का निवेश मिला है। जिसके बड़े हिस्से का इस्तेमाल रिलायंस इंटस्ट्री (Reliance Industries new deal) अपना कर्ज चुकाने में करेगी। इस तरह ये डील रिलायंस के लिए मील का पत्थर साबित होगी। इस डील की वजह से 700 अरब डॉलर यानि करीब 52,50,000 करोड़ रुपये का ‘न्यू कॉमर्स’ अवसर मिला है।

क्या है New Commerce project

दरअसल, जुलाई 2018 में मुकेश अंबानी ने अपने ‘न्यू कॉमर्स’ वेंचर की स्थापना की थी। उस दौरान उन्होंने कहा था कि इसमें भारत के खुदरा कारोबार को नई परिभाषा देने की क्षमता है। ये न्यू कॉमर्स अगले सालों में रिलायंस के लिए नया ग्रोथ इंजन बन सकता है। इसकी वजह से रिलायंस में डिजिटल और फिजिकल बाजार का एकीकरण होगा और MSME, किसानों, किराना दुकानदारों के एक बड़े नेटवर्क की शुरुआत होगी। रिलायंस और फेसबुक के साथ डील करके कंपनी का स्वामित्व वाले वाट्सएप से बड़ा मुनाफा कमाकर अपने न्यू कॉमर्स बिजनेस को ग्रोथ को बढ़ाएगी।

दोनों कंपनियों के होगा फायदा

इस डील से रिलायंस के अलावा उनके साथ डील करने वाली कंपनियों को भी फायदा होगा। आने वाले समय में रिलायंस के जियो में कई और निवेशक निवेश करेंगे। जिससे जनरल अटलांटिक, सिल्वर लेकर और विस्टा को भी फायदा होगा। फेसबुक को भारत में रिलायंस (Reliance Industries new deal) के बड़े नेटवर्क और उसके कनेक्शन का लाभ मिलेगा। जिससे वो अपने कई प्रोजेक्ट में फायदा ले सकेगी।