Puja Gupta IAS : दादा का सपना पूरा करने के लिए पोती ने की यूपीएससी परीक्षा की तैयारी, 42वीं रैंक हासिल कर बनीं IAS अधिकारी

Puja Gupta IAS

Puja Gupta IAS : आज भी कुछ परिवारों में बेटियों की शिक्षा को लेकर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता है. ऐसे में उनके बड़े सपनों को पूरा करना एक सपना ही रह जाता है. लेकिन आज हम आपको जिस आईएएस अधिकारी के बारे में बताने जा रहे हैं उन्हे ना सिर्फ परिवार का साथ मिला बल्कि उनकी असफलता पर उनके साथ भी खड़े रहे. इस आईएएस अधिकारी का नाम पूजा गुप्ता है.

परिवार के सपोर्ट की वजह से उन्हें बचपन से ही सिविल सेवा में आने का जुनून सवार हो गया। जिसके बाद वो यूपीएससी परीक्षा की तैयारी में जुट गई. हम बात करने वाले हैं यूपीएससी टॉपर पूजा गुप्ता की। IAS-IPS बनने की चाह रखने वाले अभ्यर्थियों के लिए पूजा की कहानी किसी प्रेरणा से कम नहीं है। आइए जानते हैं उन्होंने कैसे यूपीएससी परीक्षा में सपनों को साकार किया

कौन है (Puja Gupta IAS) पूजा गुप्ता

दिल्ली की रहने वाली पूजा गुप्ता ने अपनी शुरुआती पढ़ाई एनसी जिंदल पब्लिक स्कूल से की है। जिसके बाद 2012 में उन्होंने रोहिणी स्थित ESIC मेडिकल कॉलेज में BDS Course के लिए एडमिशन लिया और 2017 में ग्रेजुएट हो गईं। पूजा बताती हैं की ग्रेजुएशन के बाद उन्हें नहीं पता था कि आगे क्या करना है।

पूजा की मां रेखा गुप्ता दिल्ली पुलिस में असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत हैं। वहीं पिता प्राईवेट कंपनी में नौकरी करते हैं। पूजा हमेशा से ही अपनी मां की वर्दी से प्रेरित थीं। हालांकि उनका बचपन से डॉक्टर बनने का सपना था, लेकिन पढ़ाई-लिखाई के दौरान उनका आकर्षण IPS अफसर बनने की ओर मुड़ गया। परिवार ने भी पूजा के फैसले में उनका साथ दिया। जिसके बाद पूजा ने UPSC की तैयारी शुरू कर दी।

रणनीति बनाकर की तैयारी

पूजा के मुताबिक UPSC Exam की तैयारी के शुरूआती दौर में उन्होंने इंटरनेट की मदद ली। उन्होंने यूट्यूब पर टॉपर्स के वीडियोज देखे और उनके अनुभवों से पढ़ाई का सही तरीका सीखा। जिसके बाद उन्होंने पढ़ाई के लिए नोट्स तैयार करना शुरू किया और इसके लिए NCERT की किताबों और अखबारों की मदद भी लेती रहीं। जहां से संभव था उन्होंने अपने एग्जाम के लिए कंटेंट जुटाया और तन मन से तैयारी में लगी रहीं। पूजा ने 2018 में अपना अटेम्प्ट दिया था।

IPS से IAS का सफर तय किया

पूजा गुप्ता ने 2018 में अपने पहले ही प्रयास में UPSC की परीक्षा पास कर ली। उस वक्त पूजा की ऑल इंडिया रैंक 147 थी। इस तरह उनका सेलेक्शन IPS के तौर पर हो गया।पूजा बताती है कि उनके दादा जी की इच्छा थी कि वो उन्हें IAS अफसर बनें।

ऐसे में दादाजी की इच्छा पूरी करने के लिए उन्होंने ट्रेनिंग के दौरान भी अपनी पढ़ाई-लिखाई जारी रखी। उन्होंने बीच में एक साल का ब्रेक लिया और लगातार कोशिश करती रहीं। इसका फल भी उन्हें जल्द ही मिल गया। 2020 में UPSC की परीक्षा में उन्होंने ऑल इंडिया 42वीं रैंक हासिल की और अपने दादा का सपना साकार कर दिखाया।