Niyaz Khan IAS : वो IAS अधिकारी जिसने कई मंत्रियों को भेजा नोटिस, चलवाए बुलडोजर और घोटालों का किया खुलासा, कई बार हो चुका है ट्रांसफर

Niyaz Khan IAS

Niyaz Khan IAS : संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा पास कर IAS-IPS बनना जितना कठिन है, उतना ही कठिन एक अधिकारी बनकर अपनी छवि को साफ-सुथरा बनाएं रख पाना भी है। कई ऐसे ईमानदार अधिकारी है जिनकी मिसाले दी जाती हैं, लेकिन कई ऐसे भी हैं जिनके साए के साथ भी साथ विवादों का नाता रहा है। एक ऐसे ही विवादित अधिकारी की बात हम इस पोस्ट में करने जा रहे हैं और उस अधिकारी का नाम है नियाज खान।

कौन हैं (Niyaz Khan IAS) नियाज खान

मूल रूप से छत्तीसगढ़ के रहने वाले नियाज खान 2015 बैच के IAS अधिकारी हैं। राज्य प्रशासनिक सेवा से प्रमोशन मिलने के बाद उन्हें IAS की कुर्सी मिली है। नियाज खान कई किताबें भी लिख चुके हैं। नियाज के बारे में कहा जाता है कि वह इस्लाम की छवि सुधारने की कोशिश में लगे हुए हैं। इसके लिए रियाज कुरान पर रिसर्च भी कर रहे हैं। हालांकि रियाज का कहना हैं कि वो सभी धर्मों का आदर-सम्मान करते हैं।

मुसलमानों की हत्याओ पर भी फिल्म बननी चाहिए

रियाज खान फिलहाल विवेक अग्निहोत्री के निर्देशन में बनी फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ से जुड़ी एक टिप्पणी को लेकर चर्चाओं में है। रियाज ने कहा है कि एक फिल्म मुसलमानों की बड़ी संख्या में होने वाली हत्याओं पर भी बनाई जानी चाहिए। रियाज के इस बयान को लेकर सोशल मीडिया पर काफी बहस हो रही है। हर कोई अपने-अपने तर्क के साथ अपनी बात कह रहा है।

हालांकि ये कोई पहली बार नहीं है जब रियाज इस तरह से चर्चाओं के केंद्र में आए हों। मॉब लिंचिंग की कई घटनाएं सामने आने के बाद रियाज ने अपने सरनेम को लेकर टिप्पणी की थी। रियाज ने कहा था कि ‘खान’ सरनेम होने की वजह से उन्हें कई बार कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसी वजह से रियाज ने अपना सरनेम बदलने की भी बात कही थी। हालांकि आज भी उनका सरनेम खान ही है।

अंडरवर्ल्ड डॉन के साथ जेल में रहना चाहता हूं

एक और सनसनीखेज बयान रियाज खान से जुड़ता है। बात उस वक्त की है जब रियाज अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम को लेकर किताब लिख रहे थे। उन्होंने कहा था कि वह कुछ दिन जेल में अबू सलेम के साथ रहना चाहते हैं ताकि वह उनके बारे में सही से किताब में लिख पाए। रियाज ने 2017 में इसके लिए सरकार को बाकायदा अर्जी भी दी थी और कहा था कि वह एक महीना जेल में अबू सलेम के साथ रहना चाहते हैं।

लेकिन सरकार ने रियाज की इस मांग को खारिज कर दिया था। रियाज खान की इन्हीं हरकतों को देखते हुए मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि रियाज अपनी सीमाएं लांघ रहे हैं। इसलिए उनके खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी किया जाएगा।