Lal bahadur pushkar irs : 10वीं में थर्ड डिवीजन पाने वाले पुष्कर बनें आयकर विभाग में डिप्टी कमिश्नर, जानें कैसे हासिल की सफलता

Lal bahadur pushkar irs : यूपीएससी की परीक्षा पास करना बच्चों का खेल नहीं है। इस परीक्षा को पास करने वाले अभ्यर्थी अपने आप में संपूर्ण होते हैं। पूरी जी जान से परीक्षा देने के बाद भी कुछ ही ऐसे अभ्यर्थी होते हैं जिनका इस परीक्षा में सिलेक्शन हो पाता है। इस परीक्षा को पास करने के लिए सिर्फ पढ़ाई ही महत्वपूर्ण नहीं है बल्कि अभ्यर्थी का चतुर्मुखी विकास होना आवश्यक है।

प्री और मेंस की परीक्षा उत्तीर्ण कर लेने के बाद भी बहुत से अभ्यर्थियों का इंटरव्यू में सिलेक्शन नहीं हो पाता है। आज के इस पोस्ट में हम IRS लाल बहादुर पुष्कर द्वारा दिए गए कुछ ऐसे टिप्स लेकर आए हैं जो उन अभ्यर्थियों के लिए बहुत ही लाभदायक है जो यूपीएससी का इंटरव्यू हिंदी भाषा में देना चाहते हैं।

यूपीएससी का इंटरव्यू अंग्रेजी और हिंदी दोनों भाषाओं में होता है लेकिन आज के दौर में जब अंग्रेजी का महत्व इतना बढ़ गया है ऐसे में अभ्यर्थी हिंदी भाषा का चुनाव करने में थोड़ा हिचकिचाते हैं।ऐसे अभ्यर्थियों के लिए आईआरएस लाल बहादुर पुष्कर द्वारा दिया गया यह टिप्स काफी लाभदायक साबित हो सकता है। इससे पहले कि हम लाल बहादुर द्वारा दिए गए टिप्स को जाने, आइए एक नजर डालते हैं.आईआरएस लाल बहादुर पुष्कर के जीवन संघर्ष पर

कौन हैं (Lal bahadur pushkar irs) लाल बहादुर पुष्कर

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में रहने वाले लाल बहादुर पुष्कर ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपने गांव से ही पूर्ण की। 10वीं की परीक्षा साल 2000 में थर्ड डिवीजन से पास की। तथा 12वीं की परीक्षा में भी लाल बहादुर पुष्कर ने कुछ खास अंक हासिल नहीं किए। इलाहाबाद विश्वविद्यालय से स्नातक पूर्ण करने के बाद पुष्कर ने दिल्ली के जेएनयू कॉलेज से अंतरराष्ट्रीय संबंध से एमए किया। साल 2016 में पुष्कर ने IRS का एग्जाम क्वालीफाई किया। और इस समय वह मुंबई में इनकम टैक्स ऑफिसर के पद पर तैनात है। पुष्कर को साहित्यिक योगदान के लिए प्रतिष्ठित काका कालेलकर सम्मान से सम्मानित भी किया जा चुका है।

यूपीएससी की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों के लिए सुझाव

लाल बहादुर पुष्कर का कहना है कि इंटरव्यू के दौरान अभ्यर्थियों से अधिकतर सवाल उनके DAF में दी गई जानकारी के आधार पर पूछे जाते हैं। ऐसे में अभ्यर्थियों को चाहिए कि वह अपने DAF में वही चीजें भरे जिनके बारे में वह 100 फ़ीसदी जानकारी रखते हो। पुष्कर का मानना है कि अभ्यर्थियों से लगभग 70 प्रतिशत सवाल उनके DAF से संबंधित पूछा जाता है।

Lal bahadur pushkar irs : 10वीं में थर्ड डिवीजन पाने वाले पुष्कर बनें आयकर विभाग में डिप्टी कमिश्नर, जानें कैसे हासिल की सफलता 1

पुष्कर ने अपने साक्षात्कार के अनुभव को साझा करते हुए बताया कि जब वह अपने साक्षात्कार की तैयारी कर रहे थे, तब उन्होंने अपने DAF की एक कॉपी तैयार की और अपने 10 अलग अलग दोस्तों से कहा कि वह इसके आधार पर उनसे 25 सवाल पूछे। इस तरह से जब 10 अलग लोगों ने DAF के आधार पर 25 अलग अलग सवाल पूछे तो पुष्कर को अपने DAF से जुड़ा एक नया दृष्टिकोण मिला जिसके आधार पर उन्होंने अपने साक्षात्कार को और भी बेहतर तरीके से तैयार किया। पुष्कर का कहना है कि इस तरीके से तैयारी करने पर अभ्यर्थियों को साक्षात्कार में काफी मदद मिलती है।

इंटरव्यू के दौरान क्षेत्रीय भाषाओं का करें चुनाव

इंटरव्यू के संबंध में पुष्कर का कहना है कि, आपने इंटरव्यू के लिए किस भाषा का चुनाव किया है, यह महत्वपूर्ण नहीं है। आप अपने किसी भी क्षेत्रीय भाषा का चुनाव इंटरव्यू के लिए कर सकते हैं। भाषा को लेकर यूपीएससी में कोई भी भेदभाव नहीं किया जाता है। महत्वपूर्ण यह है कि हर विषय को लेकर आप की बेसिक जानकारी बिल्कुल क्लियर हो, साथ ही आपने अपने पर्सनल डिटेल में जो भी बातें मेंशन की हो उनके बारे में आपको संपूर्ण जानकारी हो। इसके साथ ही साक्षात्कार के दौरान आपका कॉन्फिडेंस लेवल भी काफी मजबूत होना चाहिए।

Lal bahadur pushkar irs : 10वीं में थर्ड डिवीजन पाने वाले पुष्कर बनें आयकर विभाग में डिप्टी कमिश्नर, जानें कैसे हासिल की सफलता 2

यूपीएससी की तैयारी के लिए अखबार के अलावा यूट्यूब चैनल एवं ऑनलाइन समाचार का भी उपयोग किया जा सकता है. इसके साथ ही एनसीईआरटी की किताबें यूपीएससी की तैयारी मे काफी सहायक होती हैं। पुष्कर का मानना है कि आत्मविश्वास और ईमानदारी से किया गया प्रयास कभी असफल नहीं होता है, अतः अभ्यर्थियों को पूरी लगन और ईमानदारी के साथ मेहनत करनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *