IAS Sadaf choudhary : अमेरिकी बैंक की नौकरी छोड़कर बिना कोचिंग शुरु की upsc परीक्षा की तैयारी, IAS अधिकारी बनकर किया नाम रोशन

IAS Sadaf choudhary : जिस दौर में लोगों को नौकरी मिलना मुश्किल हो और बेरोजगारी के दौर से पूरा देश गुजर रहा हो. ऐसे में अपने सपनों को पूरा करने के लिए कोई अपनी अच्छी खासी नौकरी छोड़कर देश की सबसे कठिन माने जाने वाली परीक्षा की तैयारी करने लगे और उसमें भी अपनी काबिलियत के बल पर सफलता हासिल कर लें. आज हम आपको जिस आईएएस अधिकारी के बारे में बताने जा रहे उनकी कहानी ऐसी ही है. इस आईएएस अधिकारी का नाम आईएएस शदफ चौधरी है.

जिन्होंने यूपीएससी की तैयारी के लिए अपनी अमेरिकी बैंक में लगी नौकरी छोड़ दी। अच्छी खासी नौकरी छोड़कर उन्होंने ना सिर्फ यूपीएससी में सफलता हासिल कि बल्कि अच्छी खासी रैंक भी मिल गई. वो हम सबके लिए मिसाल बन गई हैं। आइए जानते हैं कौन हैं आईएएस शदफ चौधरी

कौन हैं (IAS Sadaf choudhary) आईएएस शदफ चौधरी

शदफ चौधरी उत्तर प्रदेश राज्य के अमरोहा जिले के एक छोटे से कस्बे जोया की रहने वाली हैं। इनके पिता का नाम मोहम्मद इसरार है जो कि एक बैंक में मैनेजर है. वहीं, इनकी माता शहबाज बानो एक गृहणी हैं। सदफ ने अपनी प्रारंभिक पढ़ाई अमरोहा से ही पूरी की। इंटरमीडिएट तक की पढ़ाई इन्होंने सीबीएसई बोर्ड से पूरी की। साल 2010 में हाईस्कूल में इन्होंने 10 CGPA के साथ पूरे जिले में टॉप किया। इसके बाद साल 2012 में 91% अंकों के साथ उन्होंने इंटरमीडिएट की परीक्षा उत्तीर्ण की।

IAS Sadaf choudhary : अमेरिकी बैंक की नौकरी छोड़कर बिना कोचिंग शुरु की upsc परीक्षा की तैयारी, IAS अधिकारी बनकर किया नाम रोशन 1

इंटरमीडिएट के बाद इनका IIT JEE में सेलेक्शन हो गया और ये इंजीनियरिंग करने के लिए NIT जालंधर आ गई। यहां से इन्होंने केमिकल ब्रांच से इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करते ही इनका सिलेक्शन अमेरिकी बैंक में हो गया।

IAS Sadaf choudhary : अमेरिकी बैंक की नौकरी छोड़कर बिना कोचिंग शुरु की upsc परीक्षा की तैयारी, IAS अधिकारी बनकर किया नाम रोशन 2

साल 2016 से लेकर साल 2018 तक सदफ ने इस बैंक में काम किया। अब इनका कैरियर पूरी तरह से सेट हो चुका था, लेकिन फिर भी ये इससे संतुष्ट नहीं थी। इसकी खास वजह यह थी कि सदफ एक आईएएस ऑफिसर के रूप में देश की सेवा करना चाहती थी।साल 2018 में इन्होंने अपनी बैंक की नौकरी छोड़ दी और अपने सपने को पूरा करने के लिए यूपीएससी की तैयारी में जुट गई।

बिना कोचिंग संस्थान के मदद के बनीं आईएएस अधिकारी

यूपीएससी की तैयारी के लिए इन्होंने किसी कोचिंग संस्थान की मदद नहीं ली बल्कि सेल्फ स्टडी की मदद से परीक्षा की तैयारी में जुट गई। पहले प्रयास में इन्हें असफलता का सामना करना पड़ा। लेकिन यूपीएससी परीक्षा मेें असफलता ने इनके हौसले को डगमगाने नहीं दिया और ये एक बार फिर पूरे जोश के साथ परीक्षा की तैयारी में लग गई। दो साल की कड़ी मेहनत के बाद आखिरकार साल 2020 यूपीएससी की परीक्षा में इन्हें सफलता हासिल हो गई।

23वीं रैंक हासिल कर बनीं आईएएस

सदफ यूपीएससी 2020 की परीक्षा आल इंडिया 23वीं रैंक के साथ सफलता हासिल की। अपने एक साक्षात्कार में सदफ ने बताया कि वो बचपन से ही एक आईएएस अधिकारी बनना चाहती थी।

IAS Sadaf choudhary : अमेरिकी बैंक की नौकरी छोड़कर बिना कोचिंग शुरु की upsc परीक्षा की तैयारी, IAS अधिकारी बनकर किया नाम रोशन 3

इनका कहना है कि यह अपनी लाइफ में कोई रिस्क नहीं लेना चाहती थी इसी वजह से इन्होंने इंटरमीडिएट की पढ़ाई के बाद बीटेक किया और अपने बैकअप को मजबूत रखा इसके बाद यह यूपीएससी की तैयारी में जुटी। मंजिल कठिन थी लेकिन अपनी कड़ी मेहनत और लगन के दम पर इन्होंने यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *