सचिन या अशोक किसके सिर सजेगा राजस्थान का ताज

नई दिल्ली : 5 राज्यों के विधानसभा चुनावों में 3 राज्यों में अच्छा प्रदर्शन करने वाली कांग्रेस के सामने अब सीएम चुनने की चुनौती है. पार्टी ने मध्यप्रदेश में कमलनाथ का नाम तो फाइनल कर दिया है, लेकिन छत्तीसगढ़ और राजस्थान का चेहरा कौन होगा इस पर मंथन जारी है. मध्यप्रदेश की तरह छत्तीसगढ़ का चेहरा चुनना पार्टी के लिए आसान है, लेकिन राजस्थान में अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच टकराव की स्थिति बनी हुई है.

राजस्थान में सीएम का चेहरा चुनने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली में एक बैठक बुलाई है. इस बैठक में प्रियंका गांधी, सोनिया गांधी, अशोक गहलोत और सचिन दोनों ही मौजूद है. कयास लगाए जा रहे हैं कि आज शाम तक राहुल किसी एक नाम पर मुहर लगा सकते हैं.

राहुल गांधी से मुलाकात करने के लिए सचिन पायलट सुबह ही अपने निवास स्थान से निकल चुके हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सचिन अशोक गहलोत को सीएम बनाने पर सहमत नहीं हैं. इस बाबत उन्‍होंने पार्टी आलामान को नाराजगी भी जताई है. सचिन चाहते हैं कि वह पार्टी के लिए प्रदेश में युवा चेहरा हैं, इसलिए कमान उन्हीं को मिलनी चाहिए. वहीं, अशोक गहलोत का कहना है कि वह प्रदेश की सत्ता को पहले भी संभाल चुके हैं और उनके पास काम करने का अनुभव है, जिस कारण कमान उन्हीं को मिलनी चाहिए.

प्रदेश में जगह-जगह प्रदर्शन

राजस्थान में पार्टी का कोई चेहरा न चुने जाने के कारण दोनों दावेदारों समर्थक पूरे राजस्थान में प्रदर्शन कर रहे हैं. वहीं, गुरुवार को सचिन पायलट के समर्थक दिल्ली कूच दिया और कांग्रेस मुख्यालय के सामने प्रदर्शन किया. इस दौरान सचिन के समर्थनों ने उन्हें सीएम बनाने और प्रदेश की कमान सौंपने की मांग की.

राज्यपाल ने भंग की विधानसभा

एक तरफ कांग्रेस ने सीएम नहीं चुना है तो वहीं दूसरी तरफ राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह ने 14वीं विधानसभा को भंग कर दिया है. सिंह ने 74 में प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए गुरुवार देर शाम विधानसभा को भंग किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *