Divya Shakti IAS : माता पिता का सपना पूरा करने के लिए बेटी ने की यूपीएससी परीक्षा की तैयारी, दूसरे प्रयास में IAS अधिकारी बनकर किया नाम रोशन

Divya Shakti IAS

Divya Shakti IAS : जीवन में कुछ लोग बचपन से ही लक्ष्य निर्धारित करके भविष्य की तरह आगे बढ़ते हैं, तो कुछ ऐसे भी होते हैं जिनको अपना गोल निर्धारित करने में दुविधाओं का सामना करना पड़ता है। इसी वजह से वो काफी देर से समझ पाते हैं कि उन्हें भविष्य में किस तरह जाना है। हालांकि महत्वपूर्ण ये ज्यादा होता है कि लक्ष्य प्राप्त हुआ या नहीं। और शायद इसीलिए कहा भी गया है कि अंत भला तो सब भला।

सफल लोगों की कहानियों में आज हम आज इन्ही बातों से मेल खाती एक कहानी का जिक्र करने वाले हैं। ये कहानी है दिव्या शक्ति की। दिव्या एक IAS अधिकारी है। लेकिन करियर की च्वाइस को लेकर उनके मन में भी काफी दुविधा थी। उन दुविधाओं को दिव्या ने कैसे दूर किया और कैसे जीत का परचम लहराया आइए जानते हैं

कौन है (Divya Shakti IAS) दिव्या शक्ति

दिव्या शक्ति मूल रूप से बिहार के मुजफ्फरपुर की रहने वाली है। दिव्या ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा मुजफ्फरपुर में रहकर ही प्राप्त की है। जिसके बाद दिव्या ने बिट्स पिलानी से B.Tech करने के बाद इकोनॉमिक्स में पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री ली है।

दिव्या बताती है कि कॉलेज लाइफ के दौरान दिव्या ने अपने कई सीनियर्स को सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करते हुए देखा था। उनमें से कई सीनियर्स ने ये परीक्षा पास भी कर ली थी। ऐसे में उनका रुझान भी इस तरफ बढ़ने लगा। इस बीच लगभग 1 साल तक विचार विमर्श चला और आखिरकार उन्होंने भी IAS बनने को ही अपना लक्ष्य बना लिया।

पहले प्रयास में परीक्षा को समझा

लक्ष्य साफ था तो अब बारी थी तैयारी की। लेकिन पूरी तरह से मैदान में उतरने से पहले इस परीक्षा को समझना चाहती थीं। इसलिए उन्होंने बिना ज्यादा तैयारी के अपना पहला UPSC अटेम्प्ट दिया और नतीजा भी उसी के अनुसार रहा, उन्हें पहले प्रयास में सफलता नहीं मिली। हालांकि इस दौरान उन्हें काफी कुछ सीखने-समझने को जरूर मिला। फिर दिव्या ने अपना पूरा फोकस इस परीक्षा की तैयारी पर लगा दिया। दिन-रात कड़ी मेहनत करते हुए उन्होंने अपने आपको इस परीक्षा के लिए पूरी तरह से तैयार कर लिया।

…और फिर मिल गई सफलता

दिव्या शक्ति ने 2019 में संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा का अपना दूसरा अटेम्प्ट दिया। इस बार दिव्या को कामयाबी हासिल हुई। उन्होंने ऑल इंडिया (Divya Shakti IAS) 79वीं रैंक हासिल कर अपने IAS बनने के सपने को साकार किया।

दिव्या कहती हैं कि इस परीक्षा के लिए सेल्फ मोटिवेट होना बेहद जरूरी है। इसके अलावा तैयारी के दौरान सबसे पहले अपना बेस मजबूत करने पर ध्यान देना चाहिए। परीक्षा की मांग को समझना और उसी के आधार पर अपनी तैयारी करना सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। वहीं इस परीक्षा में सफलता का दरवाजा सेल्फ स्टडी से ही खुलता है। ऐसे में इसका विशेष कर ध्यान रखना चाहिए।